सुनंदा पुष्कर ने मरने से पहले कविता में लिखा था-मैं मरना चाहती हूँ

0
502

सुनंदा पुष्कर मौत मामले की सुनवाई कर रहा पटियाला हाउस कोर्ट इसमें दाखिल चार्जशीट पर 5 जून को संज्ञान लेगा, दिल्ली पुलिस के वकील ने कहा कि शशि थरूर और सुनंदा पुष्कर दोनों की तीसरी शादी थी, उनकी शादी के करीब 3 साल हुए थे|

बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि वह इस केस में हस्तक्षेप याचिका दायर करेंगे, जिसमें कोर्ट से आईपीसी की धारा 201 (साक्ष्यों को नष्ट करने) और 302 (हत्या) जैसी धाराओं को जोड़ने की मांग करेंगे|

 कौन है सुनंदा पुष्कर-

सुनंदा पुष्कर मूलत: कश्मीर के सोपोर जिले की रहने वाली थीं लेकिन आतंकवाद की वजह से उनका पूरा परिवार जम्मू आकर बस गया था। सुनंदा के पिता सेना में अफसर रह चुके थे।
सुनंदा 2005 से टीकॉम इंवेस्टमेंट कंपनी में बतौर सेल्स मैनेजर काम कर रही थीं। वे दुबई की हाईप्रोफाइल पार्टी में भी नजर आती थीं उसी दौरान सुनंदा शशि थरूर के सम्पर्क में आयी थी |

कश्मीर यूनिवर्सिटी की स्नातक की डिग्री लेने वाली सुनंदा पुष्कर का पहला विवाह दिल्ली में काम करने वाले एक युवक संजय रैना से हुई लेकिन एक साल बाद ही यह शादी टूट गई।
बाद में सुनंदा ने सुजीत मेनन से शादी की। केरल के इस व्यवसायी का कारोबार दुबई में था इसलिए  सुनंदा भी दुबई जा पहुंची। समय बीता लेकिन एक दुर्घटना में सुजीत मेनन का निधन हो गया। सुजीत से सुनंदा का एक 17 साल का बेटा भी है।

शशि थरूर के साथ जब सुनंदा पुष्कर की शादी हुई थी, तभी वे मीडिया की सुर्खियों में आईं थी , उसके पहले सुनंदा पुष्कर कोई नहीं जानता था कि वे क्या हैं और क्या करती हैं। सुनंदा और शशि 22 अगस्त 2010 को शादी के पवित्र बंधन में बंधे थे।

शशि थरूर की सुनंदा पुष्कर से तीसरी शादी थी इससे पहले शशि दो शादियाँ और कर चुके थे |

सुनंदा पुष्कर की मौत कैसे हुई थी –

सुनंदा 17 जनवरी 2014 को होटल लीला में मृत पाई गईं थीं।  52 वर्षीय सुनंदा की मौत पर आई इस गोपनीय रिपोर्ट में यह खुलासा भी किया गया है कि उनके शरीर पर इंजेक्शन लगाने और दांत से काटने के भी निशान है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सुनंदा के शरीर पर कुछ घाव ऐसे मिले हैं जो मौत से पहले 12 घंटे से लेकर 4 दिनों के दौरान दिए गए।

स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम की गयी थी गठित-

सुनंदा की मौत के बाद स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम गठित की गई थी। इसमें शशि थरूर से भी पूछताछ की गई थी। थरूर के सहायक नारायण सिंह, ड्राइवर बजरंगी समेत 6 लोगों से पूछताछ हुई थी।

सुनंदा ने कविता में लिखा था “मैं मरना चाहती हूँ”-

दिल्ली पुलिस ने सुनवाई के दौरान कोर्ट में बताया कि मौत से दो दिन पहले सुनंदा पुष्कर ने एक बेहद उदासी भरी कविता लिखी थी, उसमें उसने लिखा था कि वो जीना नहीं चाहती है, वो मरना चाहती है|  इस कविता को पुलिस ने चार्जशीट का हिस्सा बनाया है, पुलिस का इशारा है कि थरूर ने ही सुनंदा को आत्महत्या के लिए उकसाया था|