पेट्रोल और डीज़ल के दाम रिकॉर्ड स्तर पर, जानें कितनी हुई बढ़ोतरी

0
561

पेट्रोल और डीज़ल की कीमतों में बढ़ोतरी लगातार जारी हैं, कीमतों में एक बार फिर बढ़ोतरी की गयी हैं| पेट्रोल, डीज़ल के बढ़ते दामों का मुख्य कारण अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कीमतों में जारी उथल-पुथल और डॉलर के मुकाबले रूपये की कीमत का गिरना बताया जा रहा हैं | बढ़ती कीमतों से आम जन परेशान हैं और देश में बढ़ती कीमतों का भारी विरोध भी देखने को मिल रहा हैं |

चार महानगरों में से तीन में पेट्रोल की कीमत रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई हैं, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में इसकी कीमत 78.52 रुपये प्रति तथा कोलकाता में यह 81.44 रुपये प्रति लीटर हो गयी हैं |

 

चेन्नई में पेट्रोल की कीमत 81.58 रुपये हो गयी हैं, जबकि मुंबई में पेट्रोल की कीमत 85.93 रुपये प्रति लीटर के उच्च स्तर पर पहुंच गई है|

बढ़ती कीमतों के कारण सरकार पूर्णतया घिरी हुई हैं और विपक्ष लगातार हमले कर रही हैं, कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने दावा किया कि ऐसे उत्पादों की तेजी से बढ़ती कीमतों के कारण आम आदमी की जेब कट रही है और इस सरकार ने ‘ दैत्यकारी कर’ लागू कर देश के 11 लाख करोड़ रुपये ‘लूटे’ हैं |

पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दामों को लेकर केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के बढ़ते दाम और डॉलर के मुकाबले रुपये के लगातार गिरने के कारण ऐसे हालात पैदा हुए हैं और भारत सरकार इस विषय पर चिंतित है| इसके साथ-साथ उन्होंने अंतरराष्ट्रीय बाजारों में तेल की बढ़ती कीमतों के लिए अमेरिका की नीतियों को भी जिम्मेदार ठहराया हैं |