पाकिस्तान के नए राष्ट्रपति आरिफ अल्वी का नेहरू से रहा हैं खास सम्बन्ध, जानिए क्यों ?

0
913

पाकिस्‍तान तहरीक-ए-इंसाफ के बड़े नेता डॉ. आरिफ अल्वी को पाकिस्तान के 13वें राष्ट्रपति के रूप में चुन लिया गया है, और अब वो 9 सितम्बर को शपथ लेंगे|अल्वी को प्रधानमंत्री इमरान खान का करीबी माना जाता है, इमरान खान नीति तय करने में डॉ. आरिफ अल्वी के सुझाव पर काफी भरोसा करते हैं|

पाकिस्‍तान में तीन उम्मीदवारों ने देश के 13वें राष्ट्रपति के पद के लिए चुनाव लड़ा था,अल्वी के अलावा राष्‍ट्रपति की दौड़ में पीएमएल-एन समर्थित मुत्तहिदा मजलिस-ए-अमल (एमएमए) के अध्यक्ष फजलुर रहमान और पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के वरिष्ठ नेता एतजाज अहसान भी चुनाव मैदान में थे|

आपको बता दें कि राजनीति में आने से पहले डॉ. आरिफ अल्वी पाकिस्‍तान में दांतों के प्रसिद्ध डॉक्टर रहे हैं,अल्‍वी का भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरु से भी खास रिश्‍ता माना जाता है क्योंकि डॉ. आरिफ के पिता स्व. हबीब उर रहमान इलाही अल्वी भी दांतों के डॉक्टर थे और भारत के पहले प्रधानमंत्री पं. जवाहर लाल नेहरू के डेंटिस्ट थे|

वर्तमान राष्ट्रपति ममनून हुसैन का पांच साल का कार्यकाल आठ सितंबर को समाप्त हो रहा है, उसके बाद अल्‍वी शपथ लेंगे, राष्‍ट्रपति चुनाव में नेशनल असेंबली और सीनेट के कुल 430 सदस्यों में से अल्वी को 212 वोट मिले|

अल्वी ने संसद में शुरुआती नतीजों के बाद अपनी जीत की घोषणा कर दी, अल्‍वी इससे पहले 2013 से मई 2018 तक पाकिस्‍तान नैशनल असेंबली के सदस्‍य थे| वर्तमान में भी वह कराची सीट का प्रतिनिध‍ित्‍व कर रहे थे, उनका जन्‍म 1949 में कराची में हुआ था, इन्‍होंने अल्‍वी डेंटल अस्‍पताल की स्‍थापना भी की है|   इनके पिता बंटवारे के बाद पाकिस्‍तान बनने के बाद कराची जा बसे थे|


अल्वी ने 50 साल पहले अपने राजनीतिक करियर की शुरूआत की थी। वे जब लाहौर में पंजाब विश्वविद्यालय के एक सहयोगी डेमोंटोनेंसी कॉलेज ऑफ देंटिस्ट्री के छात्र थे तब उन्होंने पाकिस्तान के सैन्य शासक अयूब खान के खिलाफ जमकर विरोध किया था। पीटीआई वेबसाइट के मुताबिक, लाहौर के मॉल रोड पर हुए कई विरोधों में से एक में उन्हें गोली मार दी गई थी, जिसमें वे घायल हो गए। अभी भी वे गर्व से अपने दाहिने हाथ में लगी उस गोली के निशान को शान से दिखाते हुए कहते हैं कि ये लोकतंत्र की निशानी है।

राष्ट्रपति चुने जाने के बाद अल्वी ने इमरान खान का शुक्रिया जताया, अल्‍वी ने चुनाव जीतने के बाद कहा कि आज से मैं केवल अपनी पार्टी पीटीआई का नहीं बल्कि मैं पूरे देश और सभी पार्टियों का राष्ट्रपति हूं| सभी पार्टियों का मुझ पर पूरा अधिकार है, उन्होंने कहा कि वे शपथ ग्रहण में विपक्षी पार्टियों के नेताओं को भी बुलाएंगे|