इमरान खान ने बढ़ाया दोस्ती का हाथ , भारत ने किया इंकार, बोला आतंकवाद और बातचीत नहीं हो सकती साथ

0
2454

जैसा की हम सब जानते है की भारत और पाकिस्तान के बीच कैसे रिश्ते हैं। आये दिन हमे पाकिस्तान के तरफ से उनकी ऐसी कोई घटिया करतूत देखने को मिल ही जाती है। जैसा की हम सब जानते है भारत और पाकिस्तान एक ही देश था ,बाद में इसे धर्म के नाम पे दो हिस्सों में बाँट दिया गया।

हालांकि पाकिस्तान की नज़र सुरु से और हमेशा से भारत के तरफ है , और काफी बार पाकिस्तान को हार का सामना भी करना पड़ा है पर फिर भी ये अपने हरकतों से बाज़ नहीं आते।

भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों के बीच हो सकती है बातचीत :

Image Source

हाल ही में बने पाकिस्तान के नये प्रधानमंत्री इमरान खान के आने से ये अफवाह काफी बढ़ चुकी है की भारत और पाकिस्तान के रिश्ते जल्द ही सुधरने वाले हैं। कहा जा रहा है की दोनों देशों के बीच हालात सुधरने के लिए बातचीत आगे बधाई जा रही है। कुछ दिनों में न्यूयोर्क में संयुक्त राष्ट्र की महासभा सुरु होने वाली है।, इस्पे इमरान खान की सरकार का कहना है की ये बिलकुल सही समय है दोनों देशो के विदेश मंत्रियों के बीच आपस में बात करने का। हालांकि इसपर भारत ने साफ़ जवाब दे दिया है  की आतंकवाद और बातचीत एक साथ मुमकिन नहीं है

एक लेटर में लिखी थी इमरान खान ने ये बात :

Image Source

आपको ये बात बता दे की दोनों देशों के बीच बातचीत के लिए और सुलह के लिए सोच निर्णय करना चालु होगया है। दोनों देशों के बीच बातचीत की संभावना के बारे में इमरान खान ने 14 सितम्बर 2018 को एक पत्र में लिखा था। आपको बता दे की पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बनने के मौके पे बधाइयां मिलने  बदले में इमरान खान ने पात्र में जवाब लिखा था। उन्होंने ये भी लिखा था की न्यूयोर्क में होने वाले संयुक्त राष्ट्र के बीच होने वाली बात के दौरान ही पाकिस्तान और भारत अपने अपने बात सामने रखेगी।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने शार्क सम्मेलन की भी बात की है। उच्च पदों के सूत्रों के अनुसार ये खबर मिली है की संयुक्त राष्ट्र के बीच बातचीत होने से एक दिन  बैठक होगी। डॉ।  फैज़ल जो की पाकिस्तान के विदेश मंत्री है उन्होंने के कहा है की अभी इस बारे में कोई बात नहीं की गयी है, अभी इस बारे में कोई ख़ास निर्णय नहिओ निकले है। फिलहाल तो ये कुछ भी नहीं कहा जा सकता की ये वार्ता होगी भी या नहीं पर भारत ने अपना रुख सामने रख दिया है और पाकिस्तान को पहले ही साफ़ जवाब दे दिया है।