पीएम मोदी ने सर छोटूराम के प्रतिमा का अनावरण हरियाणा में किया , जानिये आखिर कौन थे सर छोटूराम

0
1402

हमारे देश में ऐसे कई हस्तियां हैं जिनका नाम हमने सुन रखा हो चाहे वो किताब में पढ़ कर के या कहीं देख कर के या किसी से उनके बारे में  सुन कर के। लेकिन ऐसे बहुत सारे हस्तियां हमारे आस पास मौजूद हैं जिनको हम ठीक से जानते तक नहीं। उनमे से ही एक है सर छोटूराम। सरदार पटेल ने एक बार छोटूराम जी के लिए ये कहा था  छोटूराम जिन्दा होते तो वो सब कुछ संभल लेते, पंजाब की चिंता हमे नहीं होती। इससे  पता चलता है की सर छोटूराम कोई मामूली इंसान नहीं हैं बल्कि एक महान सख्शियत हैं जिनकी मान बढ़ने के लिए मोदी सरकार अपने कदम पीछे नहीं रखती।

आज हरियाणा के सांपला में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने सर छोटूराम की 64 फ़ीट ऊँची प्रतिमा का अनावरण किया है, और साथ ही साथ उन्होंने आज वहां पे एक रैली को भी सम्बोधित किया था। प्रतिमा का अनावरण करते ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने कहा की हरियाणा का विकाश देश में काफी तेज़ी से बढ़ रहा है। हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक योजना चालू  करी थी जिसका नाम है आयुष्मान भारत योजना जिसकी तरफ

ध्यानाकर्षित करते हुए कहा की इस योजना की पहली लाभार्थी हरियाणा की बेटियां हैं और कहा किशन भाइयों की बात को ममानते हुए एसएसपी  दुगनी कर दी गयी है जिसको लेकर किसान बहुत समय से मांग कर रहे थे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ये भी कहना है की उनकी सरकार ने किशानो को बैंक तक पहुंचाने का काम किया है जिसकी मदद से उन्हें किसी भी साहूकार से पैसे लेने की ज़रूरत न पड़े, और वो काफी आसानी से अपने  बाधित कार्यों को पूरा  कर सकें।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने  कहा की सर छोटूराम क्व वजह से ही आज हरियाणा के काफी लोग सेना से जुड़ रहे हैं और साथ ही साथ कहा है की सर छोटूराम की मूर्ति का अनावरण करना उनके लिए एक सौभग्य की बात है। सर छोटूराम ने किशानो और गरीबों के हक्क के लिए काफी लड़ाइयां लड़ी और उनके हक्क को दिलाने  में कभी पीछे नहीं हटे।

सर छोटूराम का जन्म सन 1881 में हरियाणा के सांपला में ही हुआ था और उन्हें हरियाणा के किशानो और मजदूरों का भगवान् भी माना जाता है।