विकाश बहल पर सेक्सुअल हैरेसमेंट का केस डालने वाली महिला ने कोर्ट में पेश होने से किया, कहा – “मुझे कानूनी करवाई नहीं करनी”

0
236

कुछ दिनों से बॉलीवुड में काफी सेक्सुअल हैरेसमेंट के केस सामने आरहे हैं और काफी बड़े बड़े बॉलीवुड के सितारें इसमें शामिल है। बॉलीवुड में हाल में ही एक और सख्स का नाम हैरेसमेंट में सामने आया है। बॉलीवुड के जानेमाने फिल्म डायरेक्टर  विकाश बहल पे लगे हैरेसमेंटका केस ने एक नया रुख मोर लिया है।

दरअशल मुंबई  हाईकोर्ट ने हाल ही में विकाश बहल के केस से जुड़े सभी को कोर्ट में  पेश होने का नोटिस भेजा था लेकिन पीड़िता ने कोर्ट में पेश होने से साफ़ इंकार कर दिया और अपने वकील नवरोज़ के तरफ से कोर्ट के सामने ये बयान पेश किया की वो अदालत में पेश होना नहीं चाहती साथ ही साथ वो नहीं चाहती की किसी भी तरह की कोई भी कानूनी कार्रवाई हो।

पीड़िता के वकील के इस बयान के साथ ही साथ उसने ये भी कहा की पहले ही 3 साल से विकाश बहल की वजह से उसने बहुत कुछ झेला है साथ ही साथ वो अपनी बात पे अडिग है। इसपर मुंबई हाईकोर्ट ने कहा की #metoo  कैंपेन का गलत इस्तेमाल न करें और साथ ही साथ ये भी कहा है की इसका दुरूपयोग करने वाले  का समय ख़राब करने वालों के ऊपर सख्त से सख्त कार्रवाई होगी।

पीड़िता का कहना था की जब साल 2015 में फिल्म बॉम्बे वेलवेट की प्रमोशन चल रही थी उस दौरान विकाश बहल ने उसके साथ सेक्सुअल हैरेसमेंट की थी इसपर वो 3 साल बाद पीड़िता ने जवाब दिया और सबके सामने सच बोला।

इसके अलावा विकाश बहल ने अनुराग कश्यप पे मानहानि का आरोप लगाते हुए 10 करोड़ की मांग की है कहा है की इन झूठे आरोपों के वजह से उन्हें काफी बदनामी झेलनी पड़ी है साथ ही साथ उनके करियर पे भी भारी असर पड़ा है। हालांकि मामला यहाँ ख़तम नहीं हुआ है हाईकोर्ट ने दुबारा सबको पेश होने का नोटिस भेजा है।