12 साल बाद बना मुंबई चैंपियन, विजय हज़ारे ट्रॉफी मैच में दिल्ली को 4 विकेट से हराया

0
379

हाल ही में हुए विजय हज़ारे ट्रॉफी मैच के 2 फाइनलिस्ट मुंबई और दिल्ली के बीच मैच में मुंबई ने 12 साल बाद अपना झंडा लहरा दिया है। इससे पहले मुंबई ने 2006 में राजस्थान के साथ  को हराया था पर अफ़सोस उसके बाद कभी इस मैच में चैंपियन नहीं बन पायी। आखिर 12 साल बाद दुबारा मुंबई फिर से इस मैच को जीत गयी। इससे पहले 2003 में जब फाइनल नहीं हुआ करते थे तो मुंबई विजेता था।
विजय हज़ारे मैच के फाइनल में मुंबई और दिल्ली के बीच टॉस में मुंबई ने टॉस जीत लिया था उसके बाद मुंबई ने बैटिंग के बदले गेंदबाज़ी करने का निर्णय और दिल्ली को पहले बल्लेबाज़ी करने का मौका दिया। इसपर दिल्ली की सुरुवात कुछ अच्छी नहीं रही। सुरुवात में ही गौतम गंभीर एक  रन बनाकर ग्राउंड से लौट गए उसके बाद मनन शर्मा पांच रन बनाकर वापस लौट गए। गौतम गंभीर इस मैच में कुछ ख़ास ठीके नहीं जिसके वजह से पुरे टीम पे सुरुवात से ही प्रेशर बढ़ गया जो की एक दिल्ली टीम की हारने की एक बड़ी वजह थी।

इस मैच में दिल्ली की तरफ से सबसे ज्यादा 41 रन जो की हिम्मत सिंह ने बनाये और उसके बाद 31 रन ध्रुव शोरे ने बनाये। साथ ही साथ मुंबई की तरफ से दो गेंदबाज़ों ने तीन तीन विकेट लिए। शिवम् दुबे ने तीन विकेट लिए और धवल कुलकर्णी ने तीन विकेट लिए।

मुंबई को जीत के लिए 178 रन का लक्ष्य दिया गया था। हालाँकि मुंबई भी सुरुवात में ढीली हो गयी थी और उसके हिसाब से मैच में काफी बड़काव तेज़ी से नार आएं। सबसे काम ऋणों से पृथ्वी रहने आउट होगये थे। दिल्ली के लिए नवदीप ने 3 विकेट लिए।